ज़्यादा रौशनी भी आपको खतरे में डाल सकती है,
मेरे जुगनू मुझसे ये राज़ कहते हैं

Advertisements

चादर पलट कर देखा तो करवटें उड़ गईं
आज माँ के चेहरे से सलवटें उड़ गईं ।
एक चटनी वो खट्टी सी माँ के हाथों की , (और)
शाही दस्तरख़ानों की लज़्ज़तें उड़ गईं ।